मनोरोग विभाग जिला चिकित्सालय दुर्ग की एक अनोखी पहल सुसाइड प्रिवेंशन गेटकीपर ट्रेनिंग

 दुर्ग

राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम एवं मानसिक स्वास्थ्य हेतु जिला प्रशासन का नवाचार संवेदना अंतर्गत शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, जे.पी. नगर, कैम्प-2, भिलाई में अध्ययनरत छात्रों हेतु कार्यशाला का आयोजन किया गया। मनोरोग विशेषज्ञ डॉ. प्रशांत अग्रवाल, सोशल वर्कर हर्ष प्रकाश और योगा ट्रेनर वेणु गजपाल ने उपस्थित छात्रों, शिक्षकों तथा स्टाफ को आत्महत्या के सम्बंध में अद्यतम जानकारी दी। किशोरों में होनेवाली मानसिक समस्या के विषय में चर्चा की।

डॉ प्रशांत अग्रवाल ने 9 वी से 12वीं के छात्र-छात्राओं को सोशल मीडिया एवं नशे से संबंधित हानिकारक प्रभाव की विशेष जानकारी दी। आत्महत्या करने के कारण, लक्षण, रिस्क, फेक्टर, रिस्क असेसमेंट तथा मैनेजमेंट के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी दी। छात्रों में होनेवाले तनाव तथा इसके प्रबंधन हेतु माइंडफुलनेस एक्टिविटी कराई। इसके पश्चात प्रश्नोत्तरी सत्र में प्रतिभागियों ने अपनी शंकाओं का समाधान मनोरोग विशेषज्ञ के माध्यम से प्राप्त किया।

उक्त कार्यक्रम में लगभग 300 छात्रों के साथ शाला की प्राचार्य एवं अन्य शिक्षगण उपस्थित रहे। मनोरोग विभाग जिला चिकित्सालय दुर्ग के तहत चलाए जा रहे हैं इस तरह के कार्यक्रमों से दुर्ग शहर की जनता में मानसिक रोगों के प्रति जागरूकता बढ़ रही है और प्रतिदिन मनोरोग विभाग में इलाज करवाने के लिए आने वाले रोगियों की भी संख्या बढ़ती नजर आ रही है। जिला चिकित्सालय दुर्ग में मनोरोग विशेषज्ञ के अलावा सोशल वर्कर, योगा ट्रेनर, साइकोलॉजिस्ट, साइकाइट्रिक नर्स की भी पोस्टिंग की गई है! आने वाले समय में जिला चिकित्सालय का मनोरोग विभाग मानसिक समस्याओं की चिकित्सा करने में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त कर सकेगा।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *