विधानसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू..जाने क्या है संहिता

रायपुर

विधानसभा चुनाव घोषणा के साथ ही सभी पांच राज्यों में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो जाती है। छत्तीसगढ़ में दो चरणों में 7 नवम्बर और 17 नवम्बर को डाले जाएंगे वोट, 3 दिसम्बर को होगी मतगणना।

क्या है आदर्श चुनाव आचार संहिता

भारतीय निर्वाचन आयोग की आदर्श चुनाव आचार संहिता राजनीतिक दलों एवं प्रत्याशियों के लिये बनायी गयी एक नियमावली है जिसका पालन चुनाव के समय आवश्यक है। चुनाव आयोग चुनाव से पहले इसके लागू होने की घोषणा करता है और चुनाव के बाद इसके समाप्त होने की। यह सरकार, राजनीतिक दलों, उम्मीदवारों तथा जनता को दिये गये निर्देश हैं, जिसका पालन चुनाव के दौरान किया जाना जरूरी है।

चुनाव आचार संहिता चुनाव की तिथि की घोषणा से लागू होता है और यह मतदान के परिणाम आने पर समाप्त हो जाता है। चुनाव आचार संहिता संविधान में वर्णित नहीं किया गया है, अपितु यह एक क्रमशः प्रक्रिया का परिणाम है। इसका प्रवर्तन एक चुनाव आयुक्त एन.शेषण द्वारा किया गया है। चुनाव आचार संहिता के अंतर्गत अनेक कुछ बिंदु इस तरह शामिल है-

1.सरकार के द्वारा लोक लुभावन घोषणाएँ नहीं करना।

2.चुनाव के दौरान सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग न करना।

3.राजनीतिक दलों और उम्मीदवारों के द्वारा जाति, धर्म व क्षेत्र से संबंधित मुद्दे न उठाना।

4.चुनाव केदौरान धन-बल और बाहु-बल का प्रयोग न करना।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *