विकास समन्वय एवं निगरानी समिति दिशा की बैठक आयोजित

जशपुरनगर

रायगढ़ लोकसभा सांसद गोमती साय की अध्यक्षता में आज जिला पंचायत के सभागार में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति दिशा की बैठक आयोजित हुई। बैठक में केन्द्र प्रवर्तित योजनाओं एवं कार्यक्रमों की गहन समीक्षा की गई। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष रायमुनी भगत, कलेक्टर  रितेश कुमार अग्रवाल, सीईओ जिला पंचायत जितेन्द्र यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं सर्व संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।


सांसद गोमती साय ने केंद्र प्रवर्तित योजनाओं समीक्षा करते हुए कहा कि दिशा समिति की बैठक का उद्देश्य जिले में योजनाओं की प्रगति का मूल्यांकन करना है। साय ने सभी जनप्रतिनिधियों, कलेक्टर  सहित समस्त जिला प्रशासन को केन्द्र प्रवर्तित एवं राज्य की योजनाओं का लाभ जिले के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने हेतु गंभीरता से कार्य करने के निर्देश दिए। जिससे अधिक से अधिक लोग इन योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सके। इस हेतु सभी जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी अपने कर्तव्यों का जिम्मेदारी पूर्वक निर्वहन करते हुए लोगों को राहत पहुँचाने के लिए मिल जुल कर कार्य करें। साय ने कहा कि सभी अधिकारी योजनाओं के शत प्रतिशत क्रियान्वयन के साथ जनता की भलाई तथा क्षेत्र के विकास के काम को प्राथमिकता दें।

योजनाओं के तहत किए जा रहे निर्माण कार्यों की गुणवत्ता में विशेष ध्यान रखने के लिए अधिकारियों को किया निर्देशित

बैठक में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना, दीन दयाल अंत्योदय योजना, दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन- शहरी एवं ग्रामीण, श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन, प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, समेकित बाल विकास योजना, सर्व शिक्षा अभियान, मिड-डे मील, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, डिजिटल भारत भू-अभिलेख आधुनिकीकरण कार्यक्रम, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना सहित अन्य योजनाओं की समीक्षा की गई।

केन्द्र प्रवर्तित योजनाओं की गहन समीक्षा करते हुए योजनाओं का आमजनों को लाभ पहुँचाने के दिए निर्देश

साय ने जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग की स्थिति की समीक्षा करते हुए कुनकुरी, तपकरा, लवाकेरा मार्ग एवं कुनकुरी-पत्थलगांव मार्ग की सड़को की स्थिति में जल्द से जल्द सुधार करने, यथास्थानो में गड्ढे का भराव एवं मरम्मत कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिए। इसी प्रकार प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के कार्याे को भी शीघ्रता से पूरा कराने की बात कही। उन्होंने सड़को की गुणवत्ता का विशेष ध्यान देने हेतु अधिकारियों को निर्देशित किया। शिक्षा विभाग के योजनाओं की जानकारी लेते हुए उन्होंने विभाग की कार्य प्रणाली को दुरुस्त करने की हिदायत दी। उन्होंने सभी मरम्मत योग्य भवनों की मरम्मत हेतु प्रस्ताव भेजने, विद्यालयों में शिक्षकों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने एवं बच्चों का परीक्षा परिणाम शत प्रतिशत लाने हेतु विशेष प्रयास करने के निर्देश दिए। राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम के अंतर्गत उन्होंने विभिन्न पेंशन योजना के हितग्राहियों को समय पर पेंशन भुगतान करने एवं पात्र लोगों को लाभान्वित करने के लिए कहा। इस हेतु बीसी सखी, व्हीएलई की सहायता से पेंशन भुगतान कराने की बात कही। जिससे वे ग्रामीणों के घर-घर जाकर हितग्राहियों को पेंशन भुगतान कर लाभ पहुँचा सके।
साय ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के संबंध में किसानों में जागरूकता लाने के लिए व्यापक प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए। उन्होंने रबी फसल की तैयारी हेतु सरसों, गेहूं सहित अन्य फसलों के उन्नत किस्म के बीज किसानों को उपलब्ध कराने के लिये कहा। समेकित बाल विकास योजना की समीक्षा करते हुए उन्होंने जिले में कुपोषण के स्तर में सुधार लाने के लिए विशेष प्रयास करने की बात कही। गर्भवती महिलाओं, शिशुवती माताओं, किशोरी बालिकाओं, को विभिन्न योजनाओं की जानकारी प्रदान कर जागरूकता लाने हेतु निर्देशित किया गया।
बैठक में कलेक्टर अग्रवाल ने सांसद श्रीमती साय को जिले में आमजनों के हित के लिए  वर्तमान में किये जा रहे अभिनव प्रयासों एवं कार्य योजनाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिले में एनीमिया एवं कुपोषण स्तर में कमी लाने हेतु विशेष कार्ययोजना तैयार कर गंभीरता से कार्य किया जा रहा है। सभी स्कूल, आंगनबाड़ी, हॉस्टल-आश्रम सहित सभी शैक्षणिक संस्थाओं में अध्ययनरत विद्यार्थियों का स्वास्थ्य जांच कर उन्हें आयरन टेबलेट का प्राथमिकता से सेवन कराया जा रहा है। साथ ही ग्रामीण स्तर पर एनिमिक महिलाओं गर्भवती महिलाओं शिशुवती माताओं को भी आयरन टेबलेट के साथ ही गर्म पका भोजन, रेडी टू ईट एवं पूरक पोषण आहार प्रदाय किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जल्द ही जिले में एनिमिया मुक्ति हेतु रात्रि चौपाल का आयोजन भी किया जाएगा। अग्रवाल ने बताया कि सभी नगरीय निकाय में प्रधानमंत्री आवास, आयुष्मान कार्ड, टीकाकरण सहित अन्य योजनाओं का लाभ दिलाने हेतु सभी वार्डों में शिविर का आयोजन किया जाएगा। जहाँ वार्ड की समस्या का प्राथमिकता से निराकरण किया जाएगा। इसी प्रकार उन्होंने बताया कि सभी विकास खंडों के गौठानों में मल्टी एक्टिविटी गतिविधियां संचालित कर ग्रामीण एवं महिलाओं को रोजगार प्रदान किया जा रहा है। साथ ही प्रत्येक विकासखण्ड के दो गौठानो को ग्रामीण औद्योगिक केंद्र के रूप में विकसित किया जा रहा है। अग्रवाल ने बताया कि किसानों को लाभ पहुंचाने हेतु किसान संगठन एफपीओ का गठन किया गया है। किसान एफपीओ के माध्यम से भी उन्नत किस्म के बीज व खाद का क्रय कर सकते है। कलेक्टर ने सभी जनप्रतिनिधियों से एफपीओ को बढ़ावा देने, योजना का प्रचार प्रसार करने एवं किसानों को प्रोत्साहित करने का आग्रह किया।
सीईओ जिला पंचायत यादव ने बताया कि जिले में मनरेगा के तहत सामुदायिक एवं हितग्राही मूलक कार्य स्वीकृत कर अधिक से अधिक लोगों को रोजगार प्रदान किया जा रहा है। जिले में  किसानों के जमीन का समतलीकरण के साथ ही कुंआ, डबरी, तालाब निर्माण हाने से किसानों को आय का अतिरिक्त जरिया प्राप्त होगा।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *