जन चौपाल लगने से स्थानीय स्तर पर हो रहा समस्याओं का समाधान

कवर्धा

कलेक्टर जनमेजय महोबे द्वारा जनसामान्य की शिकायतों, समस्याओं और मांगों के निराकरण के लिए कलेक्टर जनदर्शन आयोजित किया जा रहा है। जहां आम नागरिक अपनी समस्या, शिकायत कलेक्टर के समक्ष प्रस्तुत कर रहे है। कलेक्टर द्वारा इन समस्याओं और शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए उनका त्वरित निराकरण किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री जन चौपाल में 1198, पीजीएन में 967, पीएमओ पोर्टल में 238, जन शिकायत में 817, ई समाधान में 57 और जन चौपाल 887 आवेदनों का किया गया निराकरण

कलेक्टर महोबे द्वारा मुख्यमंत्री जनचौपाल, पीजीएन जन शिकायत, पीएमओ पोर्टल, पीजी पोर्टल, जन शिकायत, जन चौपाल के आवेदनों का लगातार समीक्षा की जा रही है और इसका निराकरण किया जा रहा है। राजस्व सहित जिला के विभिन्न विभागों द्वारा आवेदनों का निराकरण त्वरित रूप से किया जा रहा है। मुख्यमंत्री जन चौपाल में प्राप्त 1 हजार 257 प्राप्त आवेदनों में 1 हजार 198 आवेदनों का निराकरण कर दिया गया है। इसी प्रकार पीजीएन जन शिकायत में प्राप्त 1 हजार 40 आवेदनों में 967 आवेदन का निराकरण, पीएमओ पोर्टल में 251 में 238 आवेदन, जन शिकायत में प्राप्त 893 आवेदनों में 817, ई समाधान में 64 आवेदनों में 57 आवेदन, जन चौपाल में 1 हजार 44 आवेदनों में 887 आवेदन का निराकरण किया जा चुका है। इसके साथ ही जिले में जनसामान्य के मांगों, शिकायतों और समस्याओं का निराकरण करने वनांचल क्षेत्र के ग्रामों में जिला स्तरीय जन समस्या निवारण शिविर का भी आयोजन किया गया। जिसमे जिला स्तरीय जन समस्या निवारण शिविर सिंघनपुरी में 496 आवेदन, तारेगांव जंगल में 343 आवेदन, चिल्फी में 344 आवेदन और रेंगाखार कला में 697 आवेदन प्राप्त हुए। जिसका निराकरण योग्य आवेदनों का विभाग द्वारा स्थल पर ही निराकरण किया गया तथा शेष आवेदनों का निराकरण भी किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री जन चौपाल, पीजीएन, पीएमओ पोर्टल, जन शिकायत और जन चौपाल में प्राप्त आवेदनों का कलेक्टर द्वारा लगातार की जा रही समीक्षा

कलेक्टर महोबे के निर्देश पर जन सामान्य के समस्याओं और शिकायतों का स्थानीय स्तर पर निराकरण करने विकासखंड स्तर पर जन चौपाल लगाएं जा रहे है। इस जनचौपाल को संबंधित राजस्व अनुविभागीय अधिकारी द्वारा लिया जा रहा है। जनचौपाल में एसडीएम जनपद पंचायत सीईओ के अलावा विकासखण्ड स्तर के सिचाई, पीएचई, स्वास्थ्य, शिक्षा, बिजली और सहित अन्य महत्वपूर्ण विभाग के अधिकारी भी उपस्थित रहते है। कलेक्टर द्वारा जिले के विकासखण्ड मुख्यालयों में कलेक्टर जनचौपाल की तर्ज पर प्रांरभ की गई जनचौपाल एक अभिनव पहल है।
विकासखंड स्तर पर जनचौपाल लगाने से नागरिकों को कलेक्टर कार्यालय तक आने की जरूरत नहीं पड़ रही है। उनके समस्याओं का समाधान अपने ही स्थान पर किया जा रहा है। स्थानीय स्तर पर प्राप्त आवेदनों की मॉनिटरिंग कलेक्टर स्वयं कर रहे है। कलेक्टर श्री महोबे ने जनदर्शन में राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ विभिन्न विभाग के अधिकारियों को उपस्थित रहने के निर्देश दिए है। जिससे जन समान्य के आवेदन विभागों से संबंधित होने पर तत्काल निराकरण किया जा सके।
विगत दिनों जिले के जनसामान्य के मांगों, शिकायतों और समस्याओं का निराकरण करने वनांचल क्षेत्र के ग्रामों में जिला स्तरीय जन समस्या निवारण शिविर का भी आयोजन किया गया था। इसके अंतर्गत वनांचल ग्राम चिल्फी, तरेगांव, रेंगाखार, सिंघनपुरी सहित अन्य गांवों में जिला स्तरीय जन समस्या निवारण शिविर आयोजित किए गए है। जहां विभिन्न विभाग के अधिकारियों द्वारा स्टॉल लगाकर वनांचल क्षेत्र सहित आसपास के नागरिकों से आवेदन लिए गए और हजारों आवेदनों का निराकरण तत्काल किया गया। इसके साथ ही शिविर में राशन कार्ड का वितरण किया गया। शिविर का मुख्य उद्देश्य वनांचल क्षेत्रवासियों को अपनी शिकायत, समस्या और मांग का निराकण उनके गांव में ही मिल सके।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *