जांजगीर-चांपा पुलिस ने जमीन की अवैध प्लाटिंग कर धोखाधड़ी करने वाले पांच आरोपियों को किया गिरफ्तार

जांजगीर-चांपा
कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी द्वारा नगरपालिका क्षेत्र जांजगीर नैला में अवैध प्लाटिंग एवं अवैध कालोनी निर्माण पर रोक लगाने तथा कार्यवाही करने के लिये एसडीएम जांजगीर एवं चांपा के नेतृत्व में 02 जांच दल का गठन किया गया था। जिसमें तहसीलदार, सहायक संचालक नगर एवं ग्राम निवेश जिला जांजगीर चांपा तथा मुख्य नगर पालिका अधिकारी नगर पालिका परिषद जांजगीर नैला एवं चांपा को सदस्य बनाया गया है । गठित जांच दल द्वारा नगर के विभिन्न स्थलों में जाकर निरीक्षण किया गया जिसमें आरोपी अनवर खान , नकुल कहरा , पुष्पेन्द्र कुमार आदित्य , राकेश साहू, अर्जुन थवाईत बिना सक्षम प्राधिकारी के स्वीकृति एवं अनुमति के जमीन को भूखण्डों में विभाजित करना पाया गया ।

 आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु किया गया था विशेष टीम का गठन

प्रथम दृष्टया आरोपियों द्वारा किये जा रहे प्लाटिंग कालोनी निर्माण हेतु किया जाना प्रतीत होने एवं कालोनी विकास हेतु नगर पालिका से अनुमति नहीं लेने से मुख्य नगर पालिका अधिकारी द्वारा आरोपियों का कृत्य छ ० ग ० नगर पालिका अधिनियम 1961 की धारा 339 (ग)(3) केे अधीन अवैधानिक एवं दण्डनीय अपराध होने से सभी आरोपियों के विरूद्ध थाना जांजगीर में पृथक-पृथक से अपराध पंजीबद्ध किया गया है।
आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु, थाना जांजगीर, चौकी नैला एवं सायबर सेल की संयुक्त टीम द्वारा आरोपियों को उनके घर में रहने की सूचना प्राप्त होने पर घेराबंदी कर आरोपियों को उनके घर से गिरफ्तार कर पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया। विवेचना के दौरान जमीन का प्लाटिंग कर बिकी करने के संबंध में कोई वैध दस्तावेज आरोपियों द्वारा प्रस्तुत नहीं करने एवं जमीन का प्लांटिग किया जाना स्वीकार गया है। गवाहों के कथनों से यह तथ्य ज्ञात हुआ कि आरोपियों द्वारा प्लाटो की बिक्री ग्राहको को यह कहकर किया गया है कि प्लाट बिक्री पूर्व शासन के सभी नियम का पालन किया गया है एवं कालोनी निर्माण हेतु सक्षम अधिकारी से अनुमति प्राप्त किया गया है । इस तरह आरोपियों द्वारा आम लोगों के साथ धोखा कारित कर छल पूर्वक प्लाटों की बिकी करनापाये जाने से प्रकरण में धारा 420 भादवि जोड़ी गई है। प्रकरण के आरोपी को दिनांक 30.08.22 को गिरफ्तार किया गया जिन्हें न्यायालय पेश किया जायेगा ।
आरोपियों को गिरफ्तार करने में निरीक्षक उमेश कुमार साहू, उप निरी बी.पी. तिवारी, अवनीश श्रीवास सनत मात्रे, सउनि राम खिलावन साहू , भरत राठौर प्र.आर. मुकेश यादव, जगदीश अजय, रमेश त्रिपाठी आर. दिलीप सिंह, सुनील सूर्यवंशी खिलेन्द्र कर्ष एवं सुशांत राठौर का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *