कोरबा कांग्रेस कमेटी का हल्ला-बोल कार्यक्रम

कोरबा
देश में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी और खाद्य पदार्थों में जीएसटी के खिलाफ अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आव्हान पर तथा प्रदेश कांग्रेस कमेटी से निर्देश पर जिला कांग्रेस एवं ब्लॉक कांग्रेस के संयुक्त नेतृत्व में बालको हॉट बाजार में हल्ला-बोल कार्यक्रम आयोजित किया गया।

इस मौके पर महापौर राजकिशोर प्रसाद ने कहा कि मोदी सरकार मंहगाई को नियंत्रित नही कर पा रही है। उन्होने बताया कि हल्ला बोल के दौरान पार्टी कार्यकर्ता और नेता जनता से देश में बढ़ती महंगाई और मोदी सरकार की गलत नीतियों को लेकर भी चर्चा करेंगे और उन्हें बताएंगे कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों के चलते ही देश में महंगाई और बेरोजगारी बढ़ रही है, यहां तक की मोदी सरकार के आर्थिक कू प्रबंधन की वजह से दही-छाछ, आटा-चावल जैसे खाद्य पदार्थों पर भी जीएसटी लगा दी गई जिससे कि गरीब के मुंह से निवाला छीनने का काम किया जा रहा है। इसके अलावा देश की संपत्तियों को चंद पूंजीपतियों को देने का काम किया जा रहा है।
जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुरेन्द्र प्रताप जायसवाल ने बताया कि मोदी सरकार द्वारा आटा, चॉवल, दही, पनीर, शहद जैसी रोजमर्रा की आवश्यक वस्तुओं पर जीएसटी लगाने से मंहगाई और बढ़ी है। इतना ही नही बच्चों के पेंसिल शार्पनर लेकर हॉस्पिटल बेड और शमशान घाट के निर्माण पर भी जीएसटी लगा दी है। मोदी सरकार के 8 वर्षो में एलपीजी सिलेंडर में 156 प्रतिशत, पेट्रोल में 40 प्रतिशत, डीजल मे 75 प्रतिशत, सरसो तेल में 122 प्रतिशत, आटा में 81 प्रतिशत और दुध में 71 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। कई ऐसे खाद्य सामाग्री है जिनके दाम दोगुने से भी अधिक हो गए है।
जिला कांग्रेस अध्यक्ष सपना चौहान ने बताया कि कांग्रेस का राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन के बाद एक बार फिर महंगाई के खिलाफ हल्ला बोल करने जा रही है। इस बार महंगाई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का सिलसिला 01 सप्ताह तक रहने वाला है। सभी विधानसभा क्षेत्रों की बाजारों में महंगाई के खिलाफ, केंद्र सरकार की आर्थिक नीतियों और कुप्रबंधन को लेकर जनता से संवाद किया जा रहा है। देश में बढ़ती मंहगाई और बेरोजगारी को केन्द्र की मोदी सरकार के गलत नीतियों को मुख्य कारण बताते हुए कहा कि पेट्रोल, डीजल, सी.एन.जी. एवं रसोई गैस से लेकर दाले, कुकिंग आयल, आटा, चॉवल जैसी जरूरी चीजों की कीमते आसमान छू रही है।
पार्षद कृपाराम साहू ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हर साल दो करोड़ रोजगार देने का वादा किया था लेकिन उनकी गलत आर्थिक नीतियों की वजह से 14 करोड़ लोग पिछले वर्षो में बेरोजगार हुए है। आज 20 से 24 वर्ष के आयु वाले 42 प्रतिशत युवा बेरोजगार है। महंगाई विरोधी हल्ला बोल सप्ताह मनाने के बाद दिल्ली के रामलीला मैदान में 04 सितम्बर को राष्ट्रव्यापी हल्ला बोल रैली भी होगी, जिसमें सभी राज्यों से कांग्रेस कार्यकर्ता और नेता शामिल होंगे।
बालको ब्लॉक अध्यक्ष दुष्यंत शर्मा ने कहा कि आज लोग बेरोजगारी और मंहगाई की दोहरी मार झेलने को मजबूर है। रोजगार न मिलने से युवा वर्ग हताश है वही दुसरी तरफ महिलांए बढ़ती मंहगाई से निराश है लेकिन सरकार के कान में जू नही रेंग रही। बिना सोचे समझे नोट बंदी करना और जीएसटी लगाने से 2 लाख से अधिक लघु उद्योग बंद हो गये और लाखो लोगों के रोजगार खत्म हो गए। केन्द्र की मोदी सरकार एयरपोर्ट और बडे़-बडे़ सरकारी कारखानो को कौड़ियो के मुल्य पर बेचने का काम कर रही है। उन्होने बताया कि कांग्रेस पार्टी की ओर से बीते कई महीनों से लगातार केंद्र सरकार की नीतियों को लेकर धरने प्रदर्शन किए जा रहे हैं। जून और जुलाई माह में जहां कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर ईडी के कार्रवाई के विरोध में प्रदर्शन किए गए थे तो वहीं जुलाई माह कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी पर भी ईडी की कार्रवाई के विरोध में प्रदर्शन किए गए थे। साथ ही बढ़ती महंगाई और अग्निपथ स्कीम के विरोध में भी धरने प्रदर्शन किए गए थे।
इस अवसर पर संतोष राठौर, बद्री किरण, ए. डी. जोशी, प्रभात डड़सेना, गीरधारी बरेठ, आर के नामदेव, बिरेन्द्र राठौर, पंचराम आदित्य, मनोज आनंद, विकास डालमिया, मनोज भारिया, राकेश पंकज, अजीत बर्मन, शशिलता पाण्डेय, अमिन अंसारी, तुलसी केंवट, निरज गुप्ता, अर्जुन कश्यप, जयप्रकाश पाण्डेय, पीयुष पाण्डेय, मनोज अनंत, काजल चौहान, शीतल, शान बाई चौहान, सुकन्या, गोमती, रूपा महिलांगे सहित कांग्रेस के पदाधिकारी गण एवं कार्यकर्ता मुख्य रूप से उपस्थित थे।
शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *